Explore Bollywoood to hollywood

जन्मदिन विशेष… सुर साम्राज्ञी लता क्यों नंगे पांव गाती हैं गाना

61

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आज सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का जन्मदिन है।लता दीदी के जीवन की कुछ ऐसी बातें जो आपको हैरान कर देंगी। संगीत ईश्वर की आराधना है इसबात को दिल से मानते हुए लता मंगेशकर हमेशा गाना गाते समय नंगे पांव होती है और गाने को खड़े होकर ही गाती हैं।ऐसा कभी नहीं हुआ कि लता चप्पल पहनकर गाना रिकार्ड की हों। 28 अक्टूबर 1929 को इंदौर में जन्मी लता मंगेशकर को एक्टिंग से ज्यादा संगीत पसंद था।लेकिन पिता की असामयिक मृत्यु के कारण उन्हे फिल्मों में काम करना पड़ा।अभिनेत्री की तौर पर उनकी पहली फिल्म मराठी भाषा में पाहिली मंगलागौर के नाम से आई थी।हिंदी फिल्मों गाना गाने की शुरुआत हालांकि पहले ही हो चुकी थी लेकिन 1949 में आई फिल्म महल का गाना ‘आएगा आनेवाला आएगा’ ने लता को इंडस्ट्री में एक अलग पहचान दिलाई।यहां से लता फिर पिछे मुड़कर नहीं देखीं।‘अजीब दास्ता हैं’ ये इस गाने ने जहां प्रेमी दिलों में पनपते प्यार को दर्शाया तो वहीं दूसरी तरफ ‘ऐ मेरे वतन के लोगो जरा आंख में भर लो पानी’ गाना सीमा पर खड़े जवानों का सहारा बना।लता मंगेशकर ने शादी नहीं की खुद को पूरी तरह संगीत को समर्पित कर दिया।लता मंगेशकर को गाने के अलावा फोटो खिंचवाने का बहुत शौक है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.